यूनानी चिकित्सा से मोटापा और वजन घटाएं

मोटापा एक महत्वपूर्ण मेटाबोलिज्म संबंधी विकार है। मोटापा में वसा का सेवन और व्यय में एक असंतुलन आ जाता है। आधुनिक लाइफस्टाइल और जरूत से ज्यादा कैलोरी का लेना मोटापा होने का एक महत्वपूर्ण कारण है। मोटापा अपने आप एक बीमारी है ही और साथ ही साथ दूसरे बीमारियों को न्योता देता है जैसे मधुमेह, लौ एचडीएल कोलेस्ट्रॉल, हाइपरट्राइग्लिसराइडिया सीएडी, उच्च रक्तचाप, ओस्टियो-आर्थराइटिस, स्त्री रोग संबंधी समस्याएं आदि।

यूनानी के द्वारा मोटापा और वजन कम करने के लिए कुछ सरल उपचार नीचे दिए जा रहे हैं।

 

5 यूनानी मेडिसिन जो मोटापा घटाए। Unani medicine for obesity in hindi

  1. ल्यूकमेघसॉल (लाख): अगर आपको यूनानी से अपने मोटापा को कम करना है तो ल्यूक-मेघसॉल एक प्रभावी दवा हो सकती है। इसका एक ग्राम पानी के साथ आप सुबह ले सकते हैं।
  2. जौरीश कामूनी कबीर: इस यूनानी मेडिसिन को दिन में दो बार 4-6 ग्राम लिया जा सकता है। अगर इसका उपयोग सही तरीके से किया जाए तो मोटापा को बहुत हद तक कंट्रोल किया जा सकता हैं।
  3. मजनूँमुहाज़िल: सोते समय इसका 10 ग्राम लिया जा सकता है। इसका सेवन डॉक्टर के सलाह पर करने से शरीर से वसा को कम कामयाबी हासिल हो सकती है।
  4. माजून मुकील: सोते समय इस यूनानी मेडिसिन का 10 ग्राम लेने से मोटापा को कम करने में और इसके प्रबंधन में बहुत सहायक है।
  5. नींबू का रस: मोटापे के रोगियों के लिए नींबू का रस काफी प्रभावी है। 5-10 मिली नींबू के रस को एक गिलास पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लेना चाहिए। यह मिश्रण फैट को पिघालने के साथ-साथ वजन घटाने के लिए बहुत उपयोगी है।

वजन कम करने के लिए 7 घरेलू उपाए। Home remedies for weight loss in hindi 

  1. पानी : फैट को कम करने के लिए पानी एक उम्दा उपाए है। पानी शरीर से विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट पदार्थों को निकालने में मदद करता है। यह मेटाबोलिज्म को एक्टिव करता है जिससे अतिरिक्त कैलोरी जलती है।
  2. शहद: यह पेट से अतिरिक्त वसा को कम करने के लिए उपयोगी है। इसे खाली पेट में नींबू और गुनगुना पानी के साथ लेना चाहिए।
  3. खान पान का ध्यान: एक समय में ज्यादा खाने से बचना चाहिए। जब भूख लगे तभी खाएं। इस तरह की आदत से मेटाबोलिज्म सही रहेगा और फैट की संचय होने की संभावना भी कम होगी।
  4. चीनी का इस्तेमाल: 1 चम्मच चीनी में लगभग 50-60 कैलोरी होती है। दो या तीन बार चाय या कॉफी के साथ चीनी लेने से शरीर में शुगर लेवल बढ़ सकता है। दूसरी ओर, हमारे खाद्य उत्पादों जैसे चावल, चपाती, आलू, आदि में भी चीनी होती है। ये सभी चीजें शरीर में शर्करा के स्तर को बढ़ा सकती हैं और मधुमेह और अन्य बीमारियों का कारण बन सकती हैं। शरीर में अधिक चीनी की मात्रा भी मोटापे के लिए जिम्मेदार है।
  5. अजवाईन: अजवाईन का नियमित रूप से सेवन करने पर पेट की चर्बी को बहुत हद तक कम किया जा सकता है।
  6. ग्रीन टी: ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है और पेट की वसा को कम करने में अहम रोल अदा सकता है।
  7. गुनगुने पानी का उपयोग: रेगुलर गुनगुना पानी पीने से पेट की चर्बी कम करने में मदद मिलती है।

 

मोटापा कम करने की सावधानियां। Obesity precautions in hindi

  1. जंक फूड से बचें।
  2. ज्यादा से ज्यादा फ्रूट्स का सेवन करें।
  3. ध्यान रहे खाना खाने के बाद आपके पेट का 25% खाली होना चाहिए।
  4. चीनी का सेवन कम करें।
  5. नमक से दुरी बनायें।
  6. ब्रेड और सैंडविच खाने से बचें।
  7. ज्यादा मक्खन सेवन न करें क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत अधिक होती है।
  8. पिज्जा और कोल्ड ड्रिंक्स में बहुत अधिक कैलोरी होती है। इसलिए खुद को इससे दूर रखें।
  9. भूखे लगे तभी खाएं।

Recommended Articles:

1 thought on “यूनानी चिकित्सा से मोटापा और वजन घटाएं”

Leave a Comment