हार्मोनल बदलाव के कारण हेयर फॉल कैसे रोकें

  • प्रेग्नेंसी, मेनोपॉज, तनाव से हार्मोनल इम्बैलेंस हो सकता है जो बाल झड़ने के बड़ी कारणों में से एक है।
  • असामान्य हार्मोन का लेवल बालों के विकास के लिए सही नहीं है। लेकिन आप अपने लाइफस्टाइल को बदल कर और दिनचर्या का ध्यान रखते हुए बालों को झड़ने से बहुत हद तक रोक सकतें हैं।
  • आज हम यहां आप को बताएंगें बालों के झड़ने में कौन कौन से हार्मोन जिम्मेदार हैं और प्राकृतिक तौर पर कैसे इसका इलाज और रोक सकतें हैं।

हार्मोन जो बालों के झड़ने का जिम्मेदार है-Hormone responsible for hair fall in Hindi

टेस्टोस्टेरोन

  • टेस्टोस्टेरोन पुरुष सेक्स हार्मोन है।
  • लेकिन गलत आहार, जेनेटिक्स और PCOS के कारण महिलओं में अत्यधिक मात्रा में टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन हो सकता है जो बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।
  • इस पैटर्न को रोकने के लिए पहले डॉक्टर से कंसल्ट करें।

प्रेगनेंसी हार्मोन

  • अच्छे खासे महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान एक से पांच महीने तक अत्यधिक बाल झड़ना देखा गया है।
  • इसका मुख्य कारण एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में बदलाव है।

थायराइड हार्मोन

  • हाइपोथायरायडिज्म या हाइपरथायरायडिज्म बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।
  • एलोपेसिया एरीटा नामक स्थिति के कारण गोलाकार पैटर्न बाल झड़ने लगता है।

मीनोपॉज हार्मोन

  • मीनोपॉज महिलाओं में बालों के झड़ने का मुख्य कारण बन सकता है।
  • सेक्स हार्मोन में बदलाव और तनाव से जुड़े हार्मोन बालों के झड़ने की गति को और बड़ा देता है।

स्ट्रेस हार्मोन

  • गर्भावस्था, प्रसव, मीनोपॉज या तनाव से कोर्टिसोल का स्राव हो सकता है।
  • यह बाल झड़ने के कारणों में से एक है।

हार्मोनल बालों के झड़ने को प्राकृतिक तौर पर कैसे रोकें-How to prevent hair fall naturally in Hindi

आहार

  • हार्मोन को संतुलित करते हुए बालों को अच्छा बनाने के लिए आहार का अहम रोल है।
  • क्या न खाएं: शर्करा युक्त व्यजन, नमकीन खाद्य पदार्थों और ट्रांस वसा जैसे कैंडी, बर्गर, पिज्जा, तेली चीजें
  • क्या खाएं : सब्जी, फल, प्रोटीन, दूध, पनीर, छाछ, दही, बीज, मेवे, जैतून का तेल, एवोकैडो तेल, इत्यादि

सिर की मालिश

  • सिर की मालिश बालों के विकास में बहुत ही लाभदायक है।
  • हफ्ते में कम से कम तीन या चार बार नारियल, बादाम या सरसों के तेल से सिर का मसाज करना चाहिए।
  • यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है और साथ ही साथ पोषक तत्वों को बालों की जड़ों तक पहुंचने में मदद करता है।

हेयर मास्क लगाएं

  • बाहारी तौर पर बालों का ख्याल रखना जरूरी है।
  • इसके लिए आप हर हफ्ते में एक बार हेयर मास्क लगाएं।
  • यह बालों के विकास के लिए एक बहुत अच्छा साधन है।
  • नारियल तेल और अरंडी के तेल अपने स्कैल्प और बालों में मालिश करें। 45 मिनट तक शावर कैप पहनें और फिर शैम्पू से धो लें।
  • अंडे की सफेदी को हल्का फेंट लें। अपने बालों के जड़ों से लेकर सिरे तक लगाएं। 30 मिनट तक शावर कैप पहनें और फिर धोलें।
  • हिना मास्क ( 5-7 बड़े चम्मच मेंहदी, 2 बड़े चम्मच शिकाकाई और 1 बड़ा चम्मच रीठा मिलाएं)। गर्म पानी डालकर मिला लें। इसे रात भर भीगने दें। 60 मिनट तक अपने बालों में इसे लगा रहने दें फिर धोएं।

योग

  • योग बालों के लिए और हॉर्मोन को बैलेंस के लिए बहुत ही उम्दा प्रैक्टिस है।
  • कुछ योग विशेष रूप से शीर्षासन, सर्वांगासन, विपरीत करणी, डॉग पोज़, कपालभाति, अनुलोम विलोम, और सूर्य नमस्कार बालों के विकास के लिए अद्भुत योग है।
  • यह रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है और बालों के रोम को पोषक तत्वों से पोषित करता है।
  • हार्मोन संतुलन को बहाल करने के लिए भी योग सहायक है।

व्यायाम

  • योग के अलावा शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहने के लिए ज़ुम्बा, किकबॉक्सिंग, वॉकिंग, रनिंग, स्विमिंग या कोई और खेल खेलें।
  • व्यायाम करने से सेरोटोनिन का स्राव होता है, जो शरीर में तनाव और सूजन को कम करने में मदद करता है।
  • यदि आप नियमित रूप से व्यायाम करते हैं तो अनुचित आहार के कारण होने वाले हार्मोनल असंतुलन को काफी कम किया जा सकता है।

खूब पानी पिएं

  • पानी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते हुए बालों के अच्छे विकास के लिए जरूरी है।
  • रोजाना कम से कम 3-4 लीटर पानी पिएं।

अच्छी नींद लें

  • गर्भावस्था, मेनोपोज़, तनाव और नींद की कमी के कारण कोर्टिसोल का स्राव होता है।
  • यह बदले में एक प्रकार का विष निर्माण करता है जो बालों के विकास में बाधा डालता है।
  • बालों के स्वस्थ के लिए कम से कम 7-8 घंटे की गहरी नींद जरुरी है।

 

Leave a Comment