उष्ट्रासन योग विधि, लाभ और सावधानी

उष्ट्रासन योग का अर्थ क्या है – Ustrasana meaning in Hindi

उष्ट्रासन दो शब्द मिलकर बना है।  ‘उष्‍ट्र’ का अर्थ ऊंट होता है। इस मुद्रा में शरीर ऊंट के समान लगता है इसीलिए  इसको इस नाम से पुकारा जाता है।  स्वस्थ लाभ के हिसाब से उष्ट्रासन बैठ कर करने वाले आसन में एक महत्वपूर्ण योगाभ्यास है।  उष्ट्रासन एक ऐसी योग एक्सरसाइज है जो क्रोध एवं शारीरक विकारों को दूर करने में अहम भूमिका निभाता है।ustrasana-steps-benefits-precaution

 

उष्ट्रासन योग करने की विधि – Ustrasana steps in Hindi

उष्ट्रासन करना बहुत आसान है। यहां पर बहुत सरल तरीके से इसके विधि को बताया जा रहा है।

तरीका

  • सबसे पहले आप फर्श पर घुटनों के बल बैठ जाएं या आप वज्रासन में बैठे।
  • ध्यान रहे जांघों तथा पैरों को एक साथ रखें, पंजे पीछे की ओर हों तथा फर्श पर जमे हों।
  • घुटनों तथा पैरों के बीच करीब एक फुट की दूरी रखें।
  • अब आप अपने घुटनों पर खड़े हो जाएं।
  • सांस लेते हुए पीछे की ओर झुकें और अब दाईं हथेली को दाईं एड़ी पर तथा बाईं हथेली को बाईं एड़ी पर रखें।
  • ध्‍यान रहे कि पीछे झुकते समय गर्दन को झटका न लगे।
  • अंतिम मुद्रा में जांघें फर्श से समकोण बनाती हुई होंगी और सिर पीछे की ओर झुका होगा।
  • शरीर का वजन बांहों तथा पांवों पर समान रूप से होना चाहिए।
  • धीरे धीरे सांस ले और धीरे धीरे सांस  छोड़े।
  • जहाँ तक हो सके अपने हिसाब से मुद्रा को मेन्टेन करें।
  • और फिर लंबी गहरी सांस छोड़ते अपनी आरंभिक अवस्था में आएं।
  • यह एक चक्र हुआ।
  • इस तरह से आप इसको पांच से सात बार कर सकते हैं।

 

उष्ट्रासन योग के लाभ  – Ustrasana benefits in Hindi

उष्ट्रासन योग के बहुत सारे लाभ है। यहां पर इसके कुछ महत्वपूर्ण फायदे के बारे में बताया गया है।  आप इस  ज़्यदा से ज़्यदा फायदा उठा सकते हैं अगर इसको ऊपर बताए गए विधि के हिसाब से  जाए।

फायदा

  1. उष्ट्रासन पेट की चर्बी के लिए: इस योग का अभ्यास से  अपनी पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं। अगर आप इसको सही ढंग से करते हैं तो बहुत हद तक पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है।
  2. उष्ट्रासन डायबिटीज के लिए: इसका अभ्यास करके आप डायबिटीज को बहुत हद तक कण्ट्रोल कर सकते हैं क्योंकि यह आपके पैंक्रियास को उत्तेजित करता है और इन्सुलिन के स्राव में मदद करता है।
  3. उष्ट्रासन फेफड़े के लिए: फेफड़े के स्वस्थ के लिए यह एक उम्दा आसन है और फेफड़े से सम्बंधित परेशानियों से आप को बचाता है।
  4. क्रोध कम करता है: यह योगाभ्यास क्रोध को कम करते हुए आपको शांत करने में मदद करता है।
  5. उष्ट्रासन नेत्र के लिए: दृष्टि विकार वाले व्‍यक्तियों के लिए उष्‍ट्रासन अत्‍यधिक उपयोगी होता है।
  6. उष्ट्रासन कमर दर्द में: इसको विशेषज्ञ के सामने अभ्यास करने से कमर दर्द में बहुत मदद मिलती है। यह आसन कमर दर्द के लिए रामबाण है।
  7. गर्दन के दर्द: गर्दन के दर्द को भी कम करने में मदद करता है।
  8. उष्ट्रासन पाचन में लाभदायक: पाचन संबंधी समस्‍याओं में यह लाभकारी होता है।
  9. खूबसूरत चेहरा के लिए: पतली कमर और खूबसूरत चेहरा के लिए उष्ट्रासन का अभ्यास करनी चाहिए।
  10. स्लिप डिस्क में लाभ: विशेषज्ञ के सामने  करने पर यह स्लिप डिस्क एवं साइटिका को दूर करने में मददगार है।
  11. मासिक परेशानियों को दूर करता है: यह आसन महिलाओं में मासिक जैसी परेशानियों को दूर करने में लाभदायक है।

 

उष्ट्रासन योग के सावधानी –  Ustrasana precautions in Hindi

  • उच्‍च रक्‍तचाप में इसे नहीं करनी चाहिए।
  • हृदय रोग से पीड़ित व्यक्ति इसे करने से बचें।
  • हर्निया से ग्रस्‍त व्‍यक्तियों को यह आसन नहीं करना चाहिए।
  • अधिक कमर दर्द में इसका अभ्यास न करें।
  • साइटिका एवं स्लिप डिस्क वाले मरीज इसको किसी विशेषज्ञ के सामने करनी चाहिए।

Recommended Articles:

14 thoughts on “उष्ट्रासन योग विधि, लाभ और सावधानी”

  1. I truly love your website.. Excellent colors & theme.

    Did you make this web site yourself? Please reply back as I’m trying to create my
    own personal website and would like to find out where you
    got this from or exactly what the theme is called.

    Appreciate it!

    Reply
  2. I’ve read a few just right stuff here. Definitely
    worth bookmarking for revisiting. I surprise how much attempt
    you place to create this sort of great informative site.

    Reply
  3. Please let me know if you’re looking for a writer
    for your blog. You have some really good posts and I feel I would
    be a good asset. If you ever want to take some
    of the load off, I’d love to write some material for your great blog.

    Reply
  4. Hey There. I found your weblog using msn. This is an extremely smartly written article.
    I will make sure to bookmark it and come back to learn extra of
    your useful info. Thank you for the post. I will definitely comeback.

    Reply
  5. Wow, superb weblog format! How long have you ever been running
    a blog for? you make running a blog look easy. The
    whole glance of your website is fantastic.

    Reply
  6. What’s up, everything is going perfectly here and ofcourse every one
    is sharing facts, that’s truly excellent, keep up writing.

    Reply
  7. Hmm it looks like your blog ate my first comment (it was
    super long) so I guess I’ll just sum it up what I wrote and say, I’m thoroughly enjoying your blog.

    Reply
  8. When some one searches for his necessary thing, thus he/she wants to be available that in detail,
    therefore that thing is maintained over here.

    Reply
  9. This paragraph gives clear idea designed for the new visitors of
    blogging, that genuinely how to do blogging and site-building.

    Reply
  10. I have to thank you for the efforts you’ve put in penning this site.
    I really hope to view the same high-grade content by you in the future as well.
    In truth, your creative writing abilities has inspired me to get
    my very own website now 😉

    Reply

Leave a Comment