जानिए योगासन के पूर्व और बाद की सावधानियाँ

योगासन के पूर्व सावधानियां

  • आसन करने के लिए शौच अत्‍यावश्‍यक है। इसका अर्थ है कि शरीर एवं मस्तिष्‍क स्‍वच्‍छ होने चाहिए। इसमें वातावरण की स्‍वच्‍छता भी शामिल है।
  • स्‍वच्‍छ शरीर एवं मन के साथ स्‍वच्‍छ एवं हवादार स्‍थान पर ही योग साधना की जानी चाहिए।
  • आसनों को प्रात: सूर्योदय से और सूर्योदय के उपरांत दो घंटे के भीतर ही करने का प्रयास करना चाहिए।
  • आसान सायंकाल में भी किया जा सकता है किंतु लाभ कम होगा।
  • आसन खाली पेट किए जाने चाहिए। भोजन के उपरांत कम से कम तीन से चार घंटे और नाश्‍ते के बाद कम से कम दो घंटे का अंतराल रखना चाहिए।
  • आसन करने से पहले आंतों एवं मूत्राशय को खाली कर देना चाहिए।
  • आसन हवादार स्‍थान पर करने चाहिए, जहां धूल, धुआं, दुर्गंध न हो।
  • आसन समतल स्‍थान पर किए जाने चाहिए।Padmasana

  • आराम से आसन करने के लिए जमीन पर कालीन, तह किया हुआ कंबल बिछाया जाना चाहिए।
  • स्‍नान करने के उपरांत आसन करना आसान होता है क्‍योंकि स्‍नान से पूरे शरीर में रक्‍त प्रवाह एक समान हो जाता है तथा आसन करने में सुविधा होती है।
  • आसन करने के लिए ढीले, हल्‍के एवं आरामदेह वस्‍त्र धारण करने चाहिए।
  • आसन करने से पहले चश्‍मा और कलाई घड़ी उतार देनी चाहिए।
  • अच्‍छे परिणाम के लिए हल्‍का भोजन (मिताहार) करना चाहिए।
  • तैलीय एवं मसालेदार भोजन, धूम्रपान, मदिरापान से बचना चाहिए।

 

योगासन करते सावधानियां

  • आसन करते समय जब तक कहा न जाए तब तक नाक से ही सांस लेनी चाहिए।
  • शरीर की गति के साथ सांस का तालमेल बनाने का प्रयास करें।
  • आसन धीरे-धीरे करना चाहिए एवं चरणबद्ध तरीके से अंतिम मुद्रा में पहुंचना चाहिए।
  • आसनों के दौरान शरीर की गति निर्बाध होनी चाहिए। झटके, बल अथवा दबाव से बचना चाहिए।
  • आसनों को शारीरिक, प्राणिक, मानसिक एवं आध्‍यात्मिक स्‍तरों के मध्‍य समन्‍वय स्‍थापित करने के लक्ष्‍य के साथ किया जाना चाहिए।
  • आसन समाप्‍त करने के उपरांत शवासन किया जाना चाहिए। यह थकान दूर करेगा एवं शरीर तथा मस्तिष्‍क को विश्राम देगा।
  • यदि व्‍यक्ति थक जाए तो अभ्‍यास सत्र के मध्‍य भी शवासन किया जा सकता है।
  • सभी आयु वर्गों के लोग अपनी क्षमता के अनुसार अथवा योग विशेषज्ञों के परामर्श के अनुसार आसन कर सकते हैं।
  • जिनकी हड्डी टूटी हो अथवा जो पेट के अल्‍सर, क्षयरोग, हर्निया, उच्‍च रक्‍तचाप आदि गंभीर रोगों या विकारों से ग्रस्‍त हों उन्‍हें कठिन आसनों से बचना चाहिए।
  • आसन करने से पूर्व उन्‍हें योग चिकित्‍सक अथवा चिकित्‍सक से बात करनी चाहिए और उनके निर्देशों का पालन करना चाहिए।

 

योगासन के बाद सावधानियां

  • योगाभ्‍यास के पंद्रह से तीस मिनट के बाद ही नहाया जा सकता है।
  • आसन करने के तुरंत बाद भोजन नहीं करना चाहिए। योगाभ्‍यास के पंद्रह से तीस मिनट के उपरांत हल्‍का भोजन ही लेना चाहिए।
  • योगाभ्‍यास का अंत प्रार्थना एवं शांतिपाठ से किया जाना चाहिए।
  • यदि शरीर के किसी भी भाग में तेज दर्द हो तो आसन तुरंत रोक दिए जाने चाहिए।

Recommended Articles:

2 Comments

  1. Avatar for Admin Sunder July 8, 2017
    • Avatar for Admin Tanvi July 21, 2017

Leave a Reply