कपालभाति कैसे करें पेट की चर्बी कम करने के लिए

कपालभाति क्या है ? Kapalbhati in Hindi

शास्त्रों एवं यौगिक ग्रंथों के हिसाब से देखा जाए तो कपालभाति प्राणायाम नहीं है। अधिकांश वेबसाइट या ब्लॉग में इसको प्राणायाम के श्रेणी में रखा गया है। लेकिन सही माने में देखा जाए तो यह प्राणायाम न होके शरीर की शुद्दीकरण क्रिया है जो आपके अंदर से टॉक्सिन्स, बेकार पदार्थ, इत्यादि को निकालने में अहम रोल निभाता है। अधिकांश ग्रन्थों में इसको षट्कर्म या शोधन क्रिया के रूप में देखा जाता है। दूसरी तरफ इसको प्राणायाम इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस योगाभ्यास में सांस की भागीदारी है जहाँ पर सांस को प्रबलता के साथ बाहर निकाला जाता है। हालांकि सांस लेने कि प्रक्रिया इसमें निष्क्रय है।Kapalbhati-for-belly-fat

 

कपालभाति से पेट की चर्बी कम ? Kapalbhati for belly fat

पहले पहले मुझे भी विश्वास नहीं था की कपालभाति से पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है। एक दिन एक औरत जिनकी उम्र तकरीबन 55 वर्ष होगा वह मेरे योग क्लास में आई। बातों बातों में उन्होंने बताया की आज से 5 साल पहले उनका वजन 76 किलोग्राम था लेकिन आज उनका वजन 65 किलोग्राम है। जब में उनसे इस का राज पूछा तो उन्होनें बताया कि वह रोजाना 20 मिनट सिर्फ कपालभाति योग करती हैं जिसका सकारत्मक परिणाम सब के सामने हैं। उस दिन के बाद से हर योग सिखने वालों को में दूसरे योग के इलावे प्रतिदिन कपालभाति 10 मिनट तक करवाती हूँ। और इसके परिणाम वजन कम होने के मामले में बहुत सराहनीय है।

 

कपालभाति कैसे करें पेट की चर्बी के लिए ? Kapalbhati for belly fat

  • सबसे पहले आप ऐसी योग मुद्रा में बैठे जिसमें आपकी रीढ़ की हड्डी सीधी हो।
  • प्रायः सांसों के योगा में आखों को बंद करनी चाहिए।
  • लंबा सांस लें फिर उसको झटके के साथ धीरे धीरे निकालते रहें।
  • जब आप सांस को निकालते हैं तो पेट अपने आप आगे पीछे होता है।
  • लेकिन इसमें आप को सांस छोड़ते हुए पेट की पेशियों को बलपूर्वक पीछे की ओर धकेलना है जिससे पेट की मांसपेशियों का अच्छी तरह मालिश हो।
  • इस क्रिया को कुछ दिन तक करते रहे।
  • कुछ दिनों के बाद इसके सकारत्मक परिणाम खुद आपके सामने आने लगेंगे।
  • अगर तुरंत पेट की चर्बी को कम करना हो तो इसे प्रतिदिन 20 मिनट तक करते रहें।
  • एक बात का ध्यान रखें इसे लगातार मत करें।
  • बीच में थक जाए तो कुछ समय के लिए आराम करें और फिर से इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  • इससे आपकी पेट की चर्बी ही कम नहीं होगी बल्कि कुछ दिनों के अंदर आपका पेट सपाट देखने लगेगा।

 

कपालभाति के फायदे । Kapalbhati benefits

  1. कपालभाति पेट की चर्बी को कम करने के लिए अहम भूमिका निभाता है।
  2. यह आपके पेट की चर्बी को ही कम नहीं करता बल्कि वजन घटाने के साथ साथ मोटापा को भी कम करता है।
  3. यह आपके पुरे मस्तिष्क में एक तरह की स्फूर्ति लेकर आती है।
  4. कपालभाति से श्वसन मार्ग के सभी अवरोध को दूर करने में मददगार हैं।
  5. इसके अभ्यास से अशुद्धियां एवं बलगम हमेशा हमेशा के लिये दूर हो जाती है।
  6. यह साइनसाइटिस के उपचार में उपयोगी है।
  7. यह पेट में तंत्रिकाओं को सक्रिय करते हुए एंजाइम के स्राव में मदद करती है तथा पाचन क्रिया को सुधारती है।
  8. यह फेफड़ों की क्षमता में वृद्धि करती है।
  9. इसके बराबर अभ्यास से सिर दर्द से आप निजात पा सकते हैं।
  10. इसके बारे में कहा जाता है कि कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिससे इसका इलाज न हो।
  11. यहां तक के यह कैंसर रोगियों के लिए भी एक बड़ी रोल निभा सकती है।

 

कपालभाति किसे नहीं करनी चाहिए । Kapalbhati precaution

कपालभाति वैसे बहुत ही लाभदायक योगाभ्यास है लेकिन सबको इसका प्रैक्टिस नहीं करनी चाहिए। इसमें कुछ एहतियात लेना जरूरी है।

  • कपालभाति उन्हें नहीं करनी चाहिए जिनको हैपेरिसिडिटी हो।
  • इस योगाभ्यास को उनको करने से बचना चाहिए जिनको उच्च रक्त चाप हो।
  • ह्रदय रोगियों को इसके करने से बचना चाहिए।
  • हर्निया वालों को यह करने से बचना चाहिए।
  • इसके अभ्यास से अगर दम घुटता हो ऐसे बिल्कुल मत करें।
  • मिर्गी के केस में भी इसे नहीं करनी चाहिए।
  • जिनको चक्कर आता हो उन्हें इसे करने से बचना चाहिए।

 

Recommended Articles:

2 Comments

  1. Avatar for Admin Satchell May 18, 2017
    • Avatar for Admin Tanvi July 4, 2017

Leave a Reply