मोटापा कम करना हो तो चक्रासन योग करें

चक्रासन क्या है । Chakrasana in hindi

अगर आप सही माने में वजन बिना किसी दुष्प्रभाव के कम करना चाहते हैं तो योग की शरण में आएं। और इससे आगे मोटापा में अच्छी तरह से कण्ट्रोल पाना हैं तो चक्रासन योग का अभ्यास करें। इस योगाभ्यास से पेट एवं मोटापा ही कम नही होगा बल्कि शरीर शुडोल रूप धारण करते हुए आपके चेहरे पर निखार लेकर आता है और साथ ही साथ आपको बहुत सारे बीमारियों से भी बचाता है।chakrasana-steps-benefits-precaution

 

चक्रासन योग का अर्थ

चक्रासन योग से सबके दिमाग में यह बात आती है कि इसमें शरीर पहिये का आकर ले लेता है। यह बात सही भी है लेकिन इसको आप सरल रूप में भी कर सकते हैं। यह पीठ के बल लेट कर किया जाने वाला योग दो शब्द मिलकर बना है -चक्र जिसका अर्थ होता है पहिया और आसन योग मुद्रा की ओर अंकित करता है। पहिये के आकर इस आसन के बहुत सारे लाभ है। यह आप के पेट की चर्बी को जलाने के लिए एक उम्दा योगाभ्यास है। यह पेट को कम करते हुए मोटापा एवं वजन पर अच्छा खास प्रभाव डालता है। अगर आप योग से पेट कम करना चाहते हैं तो इस आसन का अभ्यास जरूर करें।

 

चक्रासन कैसे करें । How to do Chakrasana

अब बात आती है कि चक्रासन योग को कैसे किया जाए जिससे मोटापा को कम करने के लिए बेहतर से बेहतर नतीजे सामने आए और आपको ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके। यहां पर चक्रासन योग करने के कुछ तरीके बताये जा रहे हैं जिसका अनुसरण करते हुए आप वजन कम करने में बहुत हद तक सफलता पा सकते हैं।

 

तेजी से पेट कम करें चक्रासन योग से । Chakrasana for weight loss

पेट की चर्बी को कम करने के लिए आपको नीचे दिए गए चक्रासन की विधि को अपनाना चाहिए।

  • आप पीठ के बल लेट जाएं।
  • घुटने मोड़ें और जहाँ तक भी हो सके इसको अपने जांघ के तरफ लेकर आएं।
  • घुटने को मोड़ने के बाद पैरों के बीच 10 इंच की दूरी रखें।
  • कोहनियां मोड़ और हथेलियों को कंधों के ऊपर सिर के निकट जमीन पर रख लें।
  • सांस लेते हुए धीरे-धीरे आप अपने पेट वाले हिस्से को ऊपर उठाएं।
  • धड़ को इस तरह से उठाते हैं कि बाहें तथा पांव तान हुआ रहे और एक दूसरे के नजदीक हो।
  • अब धीरे धीरे सांस लें और धीरे धीरे सांस छोड़े और इस अवस्था को धारण करें।
  • अगर आपको तुरन्त मोटापा कम करना हो तो पहले 1 मिनट के लिए इस अवस्था में रहें और फिर धीरे धीरे अपने अवधि को 10 मिनट तक लेकर जाएं।
  • ध्यान रहे आसन को मेन्टेन करते समय आपकी शरीर स्थिर रहे।
  • फिर धीरे धीरे आप अपनी आरंभिक अवस्था में लौटें।
  • यह एक चक्र हुआ।
  • इस तरह आप चार से पांच चक्र करें।
  • अगर पीठ में दर्द हो तो मकरासन या भुजंगासन या शलभासन करें।
  • ध्यान रहे इस योगाभ्यास को प्रैक्टिस करते हुए ज्यादा खिंचाव न लें।

 

चक्रासन योग की सरल विधि । Chakrasana steps

अब हम आपको बताएंगे कि सरल तरीके से इस आसन को कैसे किया जाए।

  • पीठ के बल लेट जाएं।
  • घुटने मोड़ें तथा पैरों के बीच में 10 -12 इंच की दूरी रखें।
  • हथेलियों को कंधों के ऊपर सिर के निकट जमीन पर रख लें।
  • सांस लें तथा धीरे-धीरे धड़ को उठाएं।
  • धीरे से सिर को लटकता छोड़ दें.
  • जब तक संभव हो सके इस मुद्रा को बनाए रखें।
  • फिर धीरे धीरे शरीर को नीचे लेकर आएं और विश्राम करें।
  • यह एक चक्र हुआ।
  • इस तरह आप अपने जरूरत के हिसाब से चक्र को बढ़ाएं।

 

चक्रासन योग के फायदे । Chakrasana benefits

चक्रासन योग के फायदे बहुत सारे हैं। यहां पर इसके कुछ खास फायदे का जिक्र किया जा रहा है।

  1. चक्रासन से मोटापा को कण्ट्रोल किया जा सकता है।
  2. पेट की चर्बी को कम करने के लिए चक्रासन एक बेहतरीन योगाभ्यास है।
  3. चक्रासन बुढ़ापे को रोकता और युवा अवस्था को बरकरार रखने की इसमें क्षमता है।
  4. इस आसन के अभ्यास से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमा हो जाता है।
  5. चेहरे के निखार में बहुत प्रभावी है।
  6. इस आसन का नियमित अभ्यास से बाल झड़ने समस्यां से आप निजात पा सकते हैं।
  7. चक्रासन रीढ़ की हड्डी को लचीला एवं मजबूत बनाता है।
  8. चक्रासन कमर से चर्बी को हटाने में सहायक है।
  9. यह आपके फेपड़े के लिए बहुत उम्दा योगाभ्यास है।
  10. यह आपके ह्रदय को स्वस्थ रखता है।
  11. शरीर में स्फूर्ति लेकर आता है।

 

चक्रासन के सावधानी । Chakrasana precaution

चक्रासन नहीं करनी चाहिए जब आप नीचे दिए गए परेशानियों का सामना करते हैं

  • हृदय की समस्यां
  • उच्च रक्तचाप
  • पेट में सूजन
  • कमर दर्द

Recommended Articles:

One Response

  1. Avatar for Admin Wanita May 18, 2017

Leave a Reply