जीरा के अनमोल 12 फायदे त्वचा, बालों और वजन घटाने के लिए

जीरा क्या है?

जीरा विभिन्य प्रकार के डिशेज़ का एक अभिन्न अंग के रूप में जाना जाता है। इसका पारंपरिक औषधि के रूप में लंबे समय से उपयोग होता हुआ आ रहा है। कई आधुनिक अध्ययन में यह पाया गया है कि इसका का मसाला पाचन के लिए, मधुमेह की रोकथाम, रक्त में कोलेस्ट्रॉल को कम करने, अतिरिक्त वसा को कम करने में इस्तेमाल किया जाता है।

जीरा के अनमोल 12 फायदे त्वचा, बालों और वजन घटाने के लिए
जीरा के फायदे

जीरा के 12 बेशकीमती स्वास्थ्य लाभ

जीरा के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ हैं। यहाँ पर कुछ मुख्य लाभों के बारे में बताया जा रहा है।

  1. त्वचा के लिए अच्छा: जीरा पानी आपकी त्वचा को फिर से हरा भरा करता है और आपके त्वचा को स्वस्थ चमक प्रदान करता है। इसमें उच्च मात्रा में पोटेशियम, कैल्शियम, सेलेनियम, तांबा और मैंगनीज पाया जाता है। जो आपकी त्वचा में निखार लेकर आता है। आप जो चमक चाहते हैं उसमें हल्दी पानी के साथ जीरा पानी के फेस पैक का उपयोग कर सकते हैं। आपकी त्वचा को कोमल और चिकनी बनाए रखने के लिए जीरा पानी महत्वपूर्ण है।
  2. स्वस्थ बालों के लिए : जीरा पानी में कई पोषक तत्व होते हैं जो आपके बालों के लिए बहुत ही अच्छा है और आपके बालों की जड़ों को पोषण देने में मदद करता है। यह बालों के पतले होने और बालों के झड़ने से रोकता है। इसमें प्रोटीन्हें जड़ों न, वसा, पानी और कार्बोहाइड्रेट होता है जो बालों के उचित विकास को बढ़ावा देता है और उसे फिर से भरने में मदद करते है।
  3. चर्बी घटाने के लिए: कुछ वैज्ञानिक अध्ययनों में यह पाया गया अगर दही के साथ जीरा लिया जाए तो वजन घटाने, कमर के आकार और शरीर की चर्बी को कम करने में उपयोगी है। लगातार जीरे का उपयोग करने से इंसुलिन के स्तर में कमी भी देखा गया है।  
  4. फूड पॉइजनिंग को रोकने में: जीरा खाने से बैक्टीरियल इंफेक्शन का खतरा कम हो जाता है। इसमें एक मेगलॉसिन यौगिक पाया जाता है जो एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर है।
  5. एंटी इंफ्लेमेटरी: कुछ शोध अध्ययनों में यह पाया गया है कि जीरा लेने से सूजन से लड़ने में मदद मिलती है।
  6. ड्रग निर्भरता कम करता है: जीरे का उपयोग नशे के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। इसलिए अगर इसका सही से इस्तेमाल किया जाय तो बहुत हद तक इसमें कामयाबी मिल सकती है।  
  7. लाभदायक कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा: एक वैज्ञानिक-आधारित शोध में यह पुष्टि हुआ है कि जीरा का अर्क लेने से खराब एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है। 
  8. आयरन का अच्छा स्रोत: एक चम्मच जीरे में लगभग 1.4 मिलीग्राम आयरन होता है। इसलिए डॉक्टरों द्वारा यह सलाह दी जाती है  कि बच्चों को लेनी चाहिए एवं वैसी महिलाएं जिनको मासिक धर्म के समय बहुत ज्यादा  परेशानी  का सामना करना पड़ता है।
  9. पाचन में सहायक: जीरा अर्क पाचन एंजाइमों की गतिविधि को बढ़ाता है, कब्ज को रोकता है तथा लिवर जूस के सेक्रीशन में मदद करता है।
  10. मधुमेह की रोकथाम: एक साइंटिफिक अध्ययन से यह पता चला है कि जीरा का अर्क लेने से रक्त में शर्करा का स्तर कम करने में मदद मिलता है।
  11. पेट दर्द कम करने में: ऐसा पाया गया है कि अगर जीरा अर्क या तेल का उपयोग नियमित रूप से एक महीने तक क्या जाए बहुत हद तक पेट दर्द और सूजन को कम किया जा सकता है।
  12. मेमोरी लॉस: एक अध्ययन में यह पाया गया है कि अगर जीरे के अर्क का उपयोग किया जाए तो मेमोरी बढ़ाने में बहुत हद तक कामयाबी मिल सकती है।

जीरा का औषधीय उपयोग


जीरा एक महत्वपूर्ण व्यंजन है जिसक इस्तेमाल औषधीय रूप में भी किया जाता है। जीरा सांस की बीमारियों, सिरदर्द और माइग्रेन, पीठ दर्द, उच्च रक्तचाप और पाचन संबंधी विकारों के मामले में पारंपरिक दवाओं के रूप में उपयोग किए जाता है। इसके अलावा,विशिष्ट स्वाद और सुगंध के कारण विभिन्न व्यंजनों को बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है।

जीरा का साइड इफेक्ट्स

यद्यपि जीरे के उपयोग को सुरक्षित माना जाता है लेकिन अधिक मात्रा में लेने से यह हानिकारक भी हो सकता है।

  • यह रक्तस्राव के जोखिम को बढ़ा सकता है।
  • श्वास संबंधी जटिलताएँ
  • गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाओं को इसका अधिक मात्रा में उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • अगर किसी को पेट में अल्सर है तो  इसके लेते समय सावधानी बरतनी चाहिए।
  • यह शर्करा के स्तर को कम कर सकता है इसलिए मधुमेह के रोगियों को इस मसाले का सेवन करते समय सावधानी बरतनी चाहिए।
  • चूंकि, जीरा शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता है, इसलिए सर्जरी से पहले और बाद में एहतियाती उपाय किए जाने चाहिए।

जीरा रेसिपी

जीरे का बीज विभिन्न व्यंजनों का महत्वपूर्ण अंग हैं। इसका उपयोग जीरा चावल, मांस और सब्जियों, सूप और सॉस इत्यादि में किया जाता है। कुछ महत्वपूर्ण व्यंजनों में जीरा गोभी का सूप, जीरा-पुदीना, ग्रिल्ड जीरा-चूना चिकन, जीरा आलू, इत्यादि किया जाता है।

जीरा पोषण संबंधी जानकारी


जीरों के बीजों में फाइटोकेमिकल्स, एंटीऑक्सिडेंट, कार्मिनटिव, डाइटरी फाइबर और एंटी-फ्लैटुलेंस गुण होते हैं। बीजों में जीरा एल्डिहाइड, पाइरेजिन, 2-मेथॉक्सी-3-सेकंड-ब्यूटाइलप्राजीन, 2-एथोक्सी-3-इसोप्रोपाइलप्राजीन, और 2-मेथॉक्सी-3-मेटाइलोफेजाइन भी होते हैं। इसमें पर्याप्त मात्रा में लोहा, तांबा, कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज, सेलेनियम, जस्ता और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसमें बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन जैसे थियामिन, विटामिन बी -6, नियासिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन ई, विटामिन ए और विटामिन सी के अलावा फ्लेवोनोइड फेनोलिक एंटीऑक्सिडेंट जैसे कैरोटीन, ज़ेक्सैन्थिन, और ल्यूटिन भी अच्छी मात्रा में होते हैं।

Recommended Articles:

Leave a Reply