उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) कम करने के लिए योग। Yoga to Control High Blood Pressure in Hindi

उच्च रक्तचाप या रक्तचाप (बीपी) का अनुभव तब किया जा सकता है जब रक्त हमारी रक्त वाहिकाओं पर दबाव डालता है। प्रत्येक धड़कन के साथ रक्तचाप बढ़ता है और धड़कनों के बीच हृदय शिथिल होने पर गिर जाता है। (हाई ब्लड प्रेशर) आराम, व्यायाम, तापमान, सर्दी, आहार, भावनात्मक स्थिति, दवाएं आदि जैसे विभिन्न कारकों से प्रभावित है। योग उच्च रक्तचाप को कम करने और रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। उच्च रक्तचाप के उपचार में घरेलू उपचार, रोकथाम और सावधानियां भी महत्वपूर्ण पहलू हैं।

उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) कम करने के लिए योग
Anulom Vilom Pranayama

उच्च रक्तचाप के लक्षण। High Blood Pressure Symptoms in Hindi

  • मोटापा
  • किडनी खराब
  • धमनियों का अकड़ना
  • सिरदर्द, भारीपन और बेचैनी
  • श्वांस – प्रणाली की समस्यायें
  • थकान
  • अनिद्रा
  • छाती में दर्द
  • गुस्सा
  • चक्कर

 

उच्च रक्तचाप के कारण । High Blood Pressure Causes in Hindi

  • तनाव इसका प्रमुख कारण है
  • लंबे समय तक धूम्रपान और शराब पीना
  • व्यायाम की कमी
  • नमक का अत्यधिक सेवन
  • स्टेरॉयड और गर्भनिरोधक गोली का प्रयोग
  • अनिद्रा
  • रक्त वाहिकाओं की असामान्य स्थिति
  • अनुवांशिक

 

उच्च रक्तचाप के लिए योग । Yoga for High Blood Pressure in Hindi

योग और ध्यान उच्च रक्तचाप को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता  है जिससे मानसिक विश्राम और तनाव में कमी के माध्यम से जीवन शैली में सुधार होता है। हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए योग अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

  1. चंद्रभेदी प्राणायाम कारगर होता है।
  2. अनुलोम विलोम प्राणायाम इसमें अमृत साबित हो सकता है।
  3. ताड़ासन इसे ठीक करने में मददगार होता है।
  4. उच्च रक्तचाप को दूर करने के लिए कटिचक्रासन एक उपयोगी योग मुद्रा है।
  5. भुजंगासन बीपी को सामान्य करने में काफी उपयोगी होता है।
  6. शलभासन धमनियों को ढीला करता है जिससे जीवनशैली से संबंधित विकार को ठीक करने में मदद मिलती है।
  7. धनुरासन आपकी थकान को दूर रखता है और निम्न उच्च रक्तचाप के लिए उपयुक्त है।
  8. उच्च रक्तचाप के मामले में पवनमुक्तासन का भी अभ्यास किया जाता है।
  9. योग निद्रा के नियमित अभ्यास से भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं।
  10. ध्यान इसको बहुत हद तक कम कर सकता है।

 

आहार जो उच्च रक्तचाप कम करे । Diet to Control High Blood Pressure in Hindi

उच्च रक्तचाप के इलाज में आहार की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसा आहार लें जिससे कब्ज कम हो। बीपी से पीड़ित मरीजों को नमक का कम से कम सेवन करना चाहिए। मौसमी फल दिन में 3-4 बार लें। अपने भोजन पर ध्यान केंद्रित करें और इसे ठीक से चबाएं। तामसिक भोजन, और अधिक नमक, बेसन, चीनी आदि वाले खाद्य उत्पादों से बचें।

  • रोगी को एक संतुलित आहार लेना चाहिए।
  • रोगी को दिन में तीन बार फल का सेवन करना चाहिए।
  • संतरा, सेब, नाशपाती, आम, अनानास, पपीता और तरबूजबीपी से पीड़ित मरीजों के लिए सर्वोत्तम आहार हैं।
  • खीरा, गाजर, टमाटर, प्याज, मूली, पत्तागोभी और पालक जैसी सब्जियों को कच्चे रूप में लेना अच्छा होता है।

 

हाई बीपी के लिए सावधानियां । High Blood Pressure Precautions in Hindi

हाई बीपी आमतौर पर लाइफस्टाइल डिसऑर्डर के रूप में जाना जाता है। इसलिए जीवन शैली, सोचने के तरीके और आहार पद्धति में सकारात्मक बदलाव लाना आवश्यक है। सुबह और शाम की सैर के साथ-साथ रात को अच्छी नींद सोने की सलाह दी जाती है। कुछ महत्वपूर्ण सावधानियां और बचाव के उपाय नीचे दिए गए हैं:

  • अपने वजन को बराबर चेक करते रहें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • फलों और सब्जियों को अधिक वेटेज दें।
  • धूम्रपान से खुद को रखें दूर
  • चिंतित और तनावपूर्ण जीवन शैली पर नियंत्रण रखें।
  • नमक और वसा का सेवन कम करें।
  • अत्यधिक तेल, मसालेदार घी, मक्खन, अचार, पापड़, आदि से दूर  रहें।
  • शराब, सिगरेट, तंबाकू, अधिक चाय, कॉफी आदि से बचें।
  • भोजन धीरे-धीरे और आराम से खाएं।
  • साइकिल और तैरना को तवज्जो दें।
  • मरीजों को जरूरत पड़ने पर आराम करने की सलाह दी जाती है।
  • नमक का सेवन प्रतिबंधित करना चाहिए। बेकिंग पाउडर से बचना चाहिए।

Recommended Articles:

Leave a Comment