योग के 17 प्रकार । 17 Types of Yoga

Dhyan yoga

योग का अर्थ। Meaning of yoga in Hindi

योग शब्द का मतलब होता है जोड़ना या मिलन। पंतजलि ने योगदर्शन के अनुसार ‘योगश्चित्तवृत्तिनिरोधः’, चित्त की वृत्तियों का रोकना योग है। इसक अर्थ यह हुआ कि चित्तवृत्तियों के निरोध की अवस्था का नाम योग है या इस अवस्था को लाने के उपाय को योग कहते हैं।

योग के 17 प्रकार। 17 Types of Yoga in Hindi

योग की जानी मानी पुस्तकें जैसे शिवसंहिता तथा गोरक्षशतक में योग के चार प्रकारों में विभाजित किया गया है –

Read more

जानिए कपालभाति प्राणायाम के 10 चमत्कारी फायदे

amazing benefits of kapalbhati pranayama
कपालभाति योग को एक पूर्ण योग के रूप में देखा जाता है। स्वस्थ्य लाभ के लिए इसकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है। कपालभाति के फायदे को देखते हुए इसे जीवन की संजीवनी कहा जाता है।

कपालभाति के 10 आश्चर्यजनक फायदे ।10 Surprising benefits of Kapalbhati Pranayama in Hindi

Read more

योग क्या है, योग के फायदे , नियम , सावधानी और प्रकार

type of yoga

योग क्या है ? What is Yoga in Hindi?

‘योग’ का मतलब होता है ‘जुड़ना’। योग’ शब्द का उत्पति संस्कृत शब्द ‘युज्’ से हुआ है, जिसका अर्थ होता है जोड़ना, बांधना अथवा मिलाना।
अगर योग को पाणिनी के व्याकरण के अनुसार देखा जाये तो ‘योग’ शब्द का तीन अर्थ निकलता हैं – मिलन (युजिर्योगे), समाधि (युज समाधौ) एवं संयम (युज संयमने)।

Read more

प्राणायाम करने की विधि, तरीके एवं लाभ

how to do pranayama

प्राणायाम विधि एवं तरीके। Pranayama steps, technique in Hindi

 

तरीके प्राणायाम करने के पहले

    • प्राणायाम करने से पहले शरीर का स्वच्छ होना जरुरी है।
    • प्राणायाम स्वच्छ एवं खुले स्थान पर किया जाना चाहिए।
    • प्राणायाम ऐसे स्थान पर करना चाहिए जहां धूल, धुएं और बदबू न हो।
    • प्राणायाम समतल स्थान पर किया जाना चाहिए जहाँ पर सहजता के साथ इसका अभ्यास किया जा सके।
    • प्राणायाम सूर्य उदय से पहले या फिर सूर्यास्त के बाद किया जाना चाहिए।
    • प्राणायाम के लिए सबसे अच्छा मौसम बसंत और पतझड़ है।
    • प्राणायाम का अभ्यास खाली पेट करना चाहिए।

Read more

प्राणायाम इन हिंदी। Pranayama in Hindi

pranayama in hindi

प्राणायम क्या है। What is pranayam in hindi

प्राणायाम प्राचीन संतों एवं साधुओं द्वारा की जाने वाली योग अभ्यास है। योग में प्राणायाम का बहुत ही ज़्यदा मह्त्व है। प्राणायाम एक तरह से सांस लेने की तकनीक है जिसमें सांस को नियमित एवं नियंत्रित किया जाता है ताकि शरीर एवं मस्तिष्क में प्राण को सक्रिय किया जा सके। प्राणायाम मानसिक एवं शरीर के अत्यंत सूक्ष्म गतिविधियों पर प्रभाव डालता है।

Read more